लोग लड़ते हैं मिलने की खातिर,पर अपनी तो बिछड़ने की लड़ाई थी. People fight for the sake of meeting, but it was a fight to get separated.


लोग लड़ते हैं मिलने के खातिर, पर अपनी तो बिछड़ जाने की लड़ाई थी|


                            
love fight with youeself
love fight

  लोग लड़ते हैं मिलने के खातिर, पर अपनी तो बिछड़ जाने के लिए आई थी...         
जीत मिली हम दोनों को बस, बस आंसुओं की कमाई थी!
तुम पंछी थे और मैं मछली!
हम दोनों की अलग ही दुनिया!
अलग जुबा और अलग जहां!
सब कहते थे हम दोनों का, इस दुनिया में मेल कहां!!
पर भूल नहीं पाऊंगी वो लम्हे, जब तुमने दिल की धड़कने सुनाई थी!
लोग लड़ते हैं मिलने के खातिर, पर अपनी तो बिछड़ जाने की लड़ाई थी........

             
peoplefight for shake of meeting,but
love fight 2

यह बिछड़ना मिलना ही शायद मोहब्बत है!
अपने प्यार को वो दे देना जिसकी उसको जरूरत है!!
हम दोनों थे कैद कहीं ,अपनी समझ की सलाखों में!
तुमने ऐसे रिहा किया, खुद आजादी शर्म आई थी!!
लोग लड़ते हैं मिलने की खातिर पर अपनी तो बिछड़ जाने की लड़ाई थी.......


                 
love sepration

मिलेंगे हम यह वादा है, रोज रात को चांद के जरिए!
मैं भेजूंगी पैगाम तुम्हें, इस बहती हुई हवा के जरिए!!
साथ रहेंगे सोच में दोनों, नाजुक नाजुक यादों में!
मैं कहूंगी मुझको एक मिला था पागल,
जिसने जिंदगी सिखाई थी!


                     


तुम कहना सबसे एक जिद्दी पड़ोसन अपने घर भी आई थी!
चल बहुत हुआ अब चुप रहूंगी, चुप्पी में मजमून है ज्यादा,
तुम जैसा बनना कहूंगी सबको, बस इतना ही मेरा वादा!!
इससे ज्यादा कहूंगी कुछ तो, फूट पड़ेगी रुलाई भी!
लोग लड़ते हैं मिलने की खातिर, पर अपनी तो बिछड़ जाने की लड़ाई थी.......


               

एक वक्त था जो गुजर गया# प्यार में धोखा

Post a Comment

नया पेज पुराने